Connect with us

ad

Chhattisgarh

*Big breaking jashpur:- सरकारी छात्रावास में मासूम छात्राओं पर टूटा अधिक्षक और चौकीदार का कहर,प्रताड़ना से तंग आकर,पीड़ित छात्राओं ने हॉस्टल से भागने किया प्रयास,मामले में जब सामने आई मिडिया तो हुआ कुछ ऐसा,जिसे जान कर आप भी रह जाएंगें हैरान,पढ़िये,ग्राउंड जीरों ई न्यूज की यह रिपोर्ट..देखिये वीडियो..!*

Published

on

1668660555129

 

कोतबा,जशपुनगर:- सरकारी छात्रावास में मासूम बालिकाओं को प्रताड़ित करने का सनसनीखेज मामला उजागर हुआ है। हास्टल की अधीक्षिका और चौकीदार की प्रताड़ना से तंग आ कर,छात्रावास की नाबालिग छात्राओं ने घर भागने का प्रयास किया। हंगामा होने पर,आनन फानन में छात्रावास पहुंची अघिक्षिका,प्रताड़ित छात्राओं को ही मिडिया के सामने आंखे दिखाने लगी। छात्रावास की इस दुर्दशा से जिम्मेदार अधिकारियों की कार्यशैली पर भी गंभीर सवालिया निशान लग रहा है। मामला जिले के पत्थलगांव ब्लाक के ग्राम पंचायत सुरंगपानी के सरकारी प्री मैट्रिक और पोस्ट मैट्रिक छात्रावास का है। जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह 9 बजे बालिकाएं स्कूल तो गई लेकिन प्रार्थना कर हॉस्टल लौट गई।एकाएक बालिकाएं छात्रावास के गेट में खड़ी होकर अपने सामान के साथ घर जाने लगी।बालिकाओं के आरोप है कि यहां पदस्थ हॉस्टल अधीक्षक श्रीमती ज्योति अग्रवाल तीन साल से रात को हॉस्टल में नहीं रहती। वो रात को अपने घर लुड़ेग चली जाती है। .इसके साथ ही बालिकाओं को यहां पदस्थ चौकीदार श्रीमती मिंज पर अपशब्दों का प्रयोग कर,मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है। छात्राओं का कहना है कि स्वजनों से दूरभाष पर बात करने नही दिया जाता है। किसी बालिकाओं के तबियत खराब होने पर उनके स्वजनों से भी दुर्व्यवहार किया जाता है। बालिकाओं ने रोते हुए बताया कि उन्हें खाने सहित रहने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि खाने में घटिया भोजन और मेनू के विपरीत भोजन परोसा जा रहा है.नहाने के लिए बालिकाओं को हॉस्टल से बाहर मैदान में लगे बोरिंग में खुले में नहाना पड़ता है।
शिकायत पर मंडल संयोजक ने नहीं की कार्रवाई –
बालिकाओं के कहना है कि मामले को लेकर पूर्व मॉडल संयोजक संजय चंद्रा और वर्तमान मंडल संयोजक से भी शिकायत कर,सहायता की गुहार लगाई। लेकिन लेकिन उन्हें वहां भी फटकार भगा दिया गया। जिम्मेदार अधिकारियों के इस रवैये से परेशान होकर,छात्राओं ने हास्टल छोड़ कर,घर जाने का सामूहिक निर्णय लिया था।
’हंगामे के 5 घंटे बाद पहुंची अधीक्षक
बालिकाओं के हंगामे के लगभग 5 घंटे बाद हॉस्टल अधीक्षक और उनके पति सहित अन्य लोग बालिकाओं के कमरे के अंदर बिना किसी अनुमति के घुसकर उन्हें मीडिया को दिए बयान को पलटने के लिये खूब दबाव बनाया जा रहा था.जो मीडिया ने अपने कैमरे में कैद कर लिया है।बालिकाओं ने बताया कि चौकीदार फ्लोरिना तिर्की उन्हें भेड़ बकरियों की तरह हॉस्टल में रहो नही तो अपने घर भाग जाओ जैसे शब्दों का उपयोग कर प्रताड़ित किया गया। इन सारे घटनाक्रम के दौरान पीड़ित छात्राएं मिडिया से सहायता की गुहार लगाती रही। जिन्हें छात्रावास अधीक्षक ने बलपूर्वक अंदर कर दिया। मामले को लेकर पत्थलगांव बीईओ धनीराम भगत करने पहुँचे थे। मिडिया ने उन्होंने बताया कि हॉस्टल अधीक्षक और चौकीदार फ्लोरिना तिर्की के मानसिक प्रताड़ना और दुर्व्यवहार से नाराज होकर घर जाने के लिये अपना सामान लेकर बाहर निकली थी। बरहाल ऐसे व्यवहार करना अनुचित और गलत है।
इसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेजी जायेगी।
स्कूल संस्था की प्राचार्य श्रीमती डनसेना ने बताया कि इस बात की जानकारी उन्हें कल ही मिला है.आज बच्चों के मायूसी देखकर उनसे पूछने पर यह बात पता चला है।
मामले को लेकर ट्रायबल विभाग के सहायक आयुक्त श्रीमती लवीना पांडेय के मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया,लेकिन काल रिसिव न करने के कारण,विभाग का पक्ष नहीं मिल पाया।

Advertisement

ad

Ad

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Chhattisgarh3 years ago

*बिग ब्रेकिंग :- युद्धवीर सिंह जूदेव “छोटू बाबा”,का निधन, छत्तीसगढ़ ने फिर खोया एक बाहुबली, दबंग, बेबाक बोलने वाला नेतृत्व, बेंगलुरु में चल रहा था इलाज, समर्थकों को बड़ा सदमा, कम उम्र में कई बड़ी जिम्मेदारियां के निर्वहन के बाद दुखद अंत से राजनीतिक गलियारे में पसरा मातम, जिला पंचायत सदस्य से विधायक, संसदीय सचिव और बहुजन हिन्दू परिषद के अध्यक्ष के बाद दुनिया को कह दिया अलविदा..*

Chhattisgarh3 years ago

*जशपुर जिले के एक छोटे से गांव में रहने वाले शिक्षक के बेटे ने भरी ऊंची उड़ान, CGPSC सिविल सेवा परीक्षा में 24 वां रैंक प्राप्त कर किया जिले को गौरवन्वित, डीएसपी पद पर हुए दोकड़ा के दीपक भगत, गुरुजनों एंव सहपाठियों को दिया सफलता का श्रेय……*

Chhattisgarh3 years ago

*कोरोना को लेकर छत्तीसगढ़ प्रशासन फिर हुआ अलर्ट, दूसरे देशों से छत्तीसगढ़ आने वालों की स्क्रीनिंग और जानकारी जुटाने प्रदेश के तीनों हवाई अड्डों पर हेल्प डेस्क स्थापित करने के निर्देश, स्वास्थ्य विभाग ने परिपत्र जारी कर सभी कलेक्टरों को कोरोना जांच और टीकाकरण में तेजी लाने कहा*

Advertisement