Connect with us


Jashpur

*Breking jashpur:-किसानों के अरमानों पर फिरा पानी,लगातार बारिश और तेज हवा से धान की फसल चौपट,जिले में सूखे जैसे हालात में किसानों ने कर्ज लेकर की थी खेतीं,जब फसल कटने के लिये तैयार तो,बेमौसम बरसात ने,..किया बर्बाद.. देखिये वीडियो..!*

Published

on

IMG 20221013 WA0069

 

कोतबा:-अन्नादाता किसानों को बेमौसम हुई बारिश ने भारी नुकसान पहुंचाया है। जिले के सबसे अधिक धानउपार्जन वाले कोतबा क्षेत्र में मंगलवार को हुई बेमौसम मूसलाधार बरसात और तेज हवा ने किसानों की सैकडों एकड़ की फसल बर्बादी की कगार पर है॥

अब बची खुची धान की फसल को लगातार बारिश ने कटाई और मिंजाई पर रोक लगा दी हैं।इधर बारिश में भीग जाने और खेतों में कटाई काम रुक जाने को लेकर उनके माथे पर चिंता की लकीरें साफ देखी जा रही है।सरकारें किसानों को लेकर कितने भी दावे कर ले पर जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है। एक ओर जहां गर्मी के दिनों में पूरे जिले के खेतों में वीरानी और सूखी जमीन देखी जाती है। वहीं गर्मी के मौसम में कोतबा के किसानों के खेत में धान की खड़ी फसल लहलहा नजर आती है।

बीती रात यानी मंगलवार को हुई अचानक बारिश से किसान आपदा में विपदा की मार झेल रहें है।उनके खेतों में अधपके फसल पूरी तरह सो कर पानी में डूब गए है.अब किसानों का कहना है कि जो फसल अधपके और पककर पानी में गिर गए है.वह सड़कर खराब हो जायेंगे।
दूसरी तरह छोटे धान के फसल पककर तैयार हो गए है.वह भी लगातार पानी से बर्बाद हो रहें है.धान के साथ साथ दलहन तिलहन की फसलें भी पूरी तरह खराब हो रही है।

विदित हो कि वर्ष 2005-06 में बने खमगड़ा जलाशय का लाभ किसानों को मिल रहा है। लेकिन किसानों के द्वारा गर्मी व बरसात के दोनों मौसम में खून, पसीने से उगाई गई इस धान की फसल बर्बाद होने से फसल बीमा का कोई लाभ नही मिल रहा है।

क्षेत्र में खमगड़ा जलाशय परियोजना किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है, वहीं परियोजना के प्रति प्रशासन के गंभीर नहीं होने से किसानों को अपेक्षित लाभ नहीं मिल पा रहा है। कोतबा क्षेत्र जिले के सबसे अधिक धान उत्पादक क्षेत्र में शामिल है। पिछले 17 वर्षों में इस क्षेत्र से अधिक धान का उत्पादन और कहीं नहीं हुआ। विशेष बात यह है कि इस क्षेत्र के किसान गर्मी के दिनों में भी पूरी फसल लेने का प्रयास करते हैं और यह संभव भी हुआ है, खमगड़ा जलाशय परियोजना से इस परियोजना के कई सार्थक और साकारात्मक पक्ष हैं, जिससे किसानों को बड़ी अपेक्षा रहती है।

Advertisement

Ad

ad

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Chhattisgarh2 years ago

*बिग ब्रेकिंग :- युद्धवीर सिंह जूदेव “छोटू बाबा”,का निधन, छत्तीसगढ़ ने फिर खोया एक बाहुबली, दबंग, बेबाक बोलने वाला नेतृत्व, बेंगलुरु में चल रहा था इलाज, समर्थकों को बड़ा सदमा, कम उम्र में कई बड़ी जिम्मेदारियां के निर्वहन के बाद दुखद अंत से राजनीतिक गलियारे में पसरा मातम, जिला पंचायत सदस्य से विधायक, संसदीय सचिव और बहुजन हिन्दू परिषद के अध्यक्ष के बाद दुनिया को कह दिया अलविदा..*

Chhattisgarh2 years ago

*जशपुर जिले के एक छोटे से गांव में रहने वाले शिक्षक के बेटे ने भरी ऊंची उड़ान, CGPSC सिविल सेवा परीक्षा में 24 वां रैंक प्राप्त कर किया जिले को गौरवन्वित, डीएसपी पद पर हुए दोकड़ा के दीपक भगत, गुरुजनों एंव सहपाठियों को दिया सफलता का श्रेय……*

Chhattisgarh2 years ago

*watch video ब्रेकिंग:- युद्धवीर सिंह जूदेव का पार्थिव शरीर एयर एम्बुलेंस विशेष विमान से जशपुर के आगडीह पहुंचा, पार्थिव शरीर आते ही युवा रो पड़े और लगाए जयकारे, आगडीह से विजय विहार के लिए रवाना, दिग्गज भाजपा नेताओं के साथ युवाओं ने इस जज्बे के साथ दी सलामी और बाइक में जयकारे लगाते हुए उसी अंदाज में की अगुआई जब संसदीय सचिव बनकर आये थे जशपुर…….*

Advertisement