Connect with us

ad

Jashpur

*देखिये वीडियो:-ग्रामीण ओलंपिक के नाम पर पाठ क्षेत्र के खिलाड़ियों के साथ दुर्व्यवहार,वीडियो हुआ वायरल…इस ग्राम पंचायत के नाराज खिलाड़ियों ने खेल का कर दिया बहिष्कार,आयोजको के व्यवहार से खिलाड़ी हुए आहत,कहा पाठ क्षेत्र के साथ इन सबने किया है अन्याय,इसी वजह से आज नही गये खेल में भाग लेने…ग्राउंड जीरो न्यूज में देखिये आयोजकों के लापरवाही से सरकार की कैसे हो रही फजीहत*

Published

on

IMG 20221106 103005

जशपुर/बगीचा(राकेश गुप्ता की रिपोर्ट):- इन दिनों पूरे प्रदेश में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा खेल को बढ़ावा देने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़िया ऑलम्पिक खेल प्रतियोगिता 2022-23 का आयोजन पूरे प्रदेश में किया गया है।जिसमें पूरे प्रदेश के गांव गांव के बच्चे से लेकर बूढ़े तक के खिलाड़ियों ने इस योजना में भाग लिया है।परन्तु हम बात कर रहे हैं जशपुर जिले की जहां जब से यह खेल शुरू हुई है तब से ही सरकार की किरकिरी हो रही है।

हम बात कर रहे हैं जशपुर जिले के बगीचा ब्लाक की जहां ब्लाक स्तरीय छत्तीसगढिया ऑलम्पिक खेल प्रतियोगिता जिले के महादेवडाँड़ में संचालित हो रही थी।वहीं इसी से जुड़ा एक और बड़ा खबर निकल कर आया है जहां बताया जा रहा है कि पाठ क्षेत्र के ग्राम पंचायत चम्पा के अलावा और भी कुछ गांव के जॉन स्तर में चयनित खिलाड़ीयों ने ब्लाक स्तरीय खेल में दो दिन जाने के बाद वहां के आयोजकों के व्यवहार से नाराज हो कर सरकार द्वारा आयोजित इस ऑलम्पिक खेल का बहिष्कार कर दिया है और आज फाइनल में खिलाड़ियों ने भाग भी नही लिया है।चम्पा के राजीव गांधी युवा मितान के अध्यक्ष सन्तु पैंकरा और खिलाड़ियों ने कहा कि महादेवडाँड़ में आयोजित खेल के ऑर्गनाइजरों के द्वारा हमारे क्षेत्र के खिलाड़ियों के साथ बहुत अन्याय किया गया है।जहां मैदान में हमारे क्षेत्र के खिलाड़ियों के मौजूद रहने के बाद भी पक्षपात पूर्ण खिलाड़ियों को लगातार कई खेल में अनुपस्थित बता कर लोकल निचघाट वाले खिलाड़ियों को जीता दिया जा रहा था।जहां पाठ क्षेत्र के खिलाड़ियों को एक खेल में चार चार राउंड खिलाया जाता था तो उनके अपने क्षेत्र के बच्चों को मात्र एक राउंड में ही फाइनल कर दिया जा रहा था।जिसे लेकर हमारे द्वारा आपत्ति दर्ज करने पर वहां मौजूद पीटीआई वगैरा आयोजकों ने हमसे दुर्व्यवहार किया जाने लगा।कारण यह था कि वहां जो आयोजक थे वह सभी लोकल थे और अपने गांव यानी कि निचघाट के खिलाड़ियों को ज्यादा तबज्जू दे रहे थे और हमारे द्वारा आपत्ति करने पर हमसे दुर्व्यवहार कर रहे थे।यही वजह है कि हम लोग चम्पा से आज फाइनल खेल में भाग नही लिए और इस खेल का बहिष्कार कर दिए।

बहरहाल कारण जो कुछ भी हो परन्तु वायरल वीडियो में देख कर स्पष्ट समझा जा सकता है कि वहां मंच पर मौजूद आयोजकों ने खिलाड़ियों से किस प्रकार से दुर्व्यवहार किया है। भूपेश सरकार द्वारा यह सदियों पुरानी परंपरा के सबसे रमणीय हिस्सों में से एक – पारंपरिक खेलों – को भव्य तरीके से छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन करके पुनर्जीवित करने के लिए और ग्रामीण इलाकों में बच्चे, बुजुर्ग और युवा- सभी के मनोरंजन, शारीरिक, मानसिक स्वास्थ्य रखने के उद्देश्य से खेल शुरुवात किया गया है परन्तु इस खेल में भी कुछ आयोजकों के गैरजिम्मेदाराना रवैये के कारण दुर्व्यवहार करके खिलाड़ियों को आहत पहुंचाया जा रहा है जिससे सीधे तौर पर सरकार की ही फजीहत हो रही है।

*वहीं इस मामले में जब हमने बगीचा जनपद पंचायत के जनपद सीईओ विनोद सिंह से बात किया तो उन्होंने बताया कि हमारे पास ऐसा कोई शिकायत नही आया जबकि हम लोग तीनो दिन वहीं मौजूद रह कर खेल को संम्पन्न कराये हैं और अगर इस तरह का कोई बात था तो खिलाड़ियों को मुझे अवगत कराना था।*

Advertisement

ad

Ad

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Chhattisgarh3 years ago

*बिग ब्रेकिंग :- युद्धवीर सिंह जूदेव “छोटू बाबा”,का निधन, छत्तीसगढ़ ने फिर खोया एक बाहुबली, दबंग, बेबाक बोलने वाला नेतृत्व, बेंगलुरु में चल रहा था इलाज, समर्थकों को बड़ा सदमा, कम उम्र में कई बड़ी जिम्मेदारियां के निर्वहन के बाद दुखद अंत से राजनीतिक गलियारे में पसरा मातम, जिला पंचायत सदस्य से विधायक, संसदीय सचिव और बहुजन हिन्दू परिषद के अध्यक्ष के बाद दुनिया को कह दिया अलविदा..*

Chhattisgarh3 years ago

*जशपुर जिले के एक छोटे से गांव में रहने वाले शिक्षक के बेटे ने भरी ऊंची उड़ान, CGPSC सिविल सेवा परीक्षा में 24 वां रैंक प्राप्त कर किया जिले को गौरवन्वित, डीएसपी पद पर हुए दोकड़ा के दीपक भगत, गुरुजनों एंव सहपाठियों को दिया सफलता का श्रेय……*

Chhattisgarh3 years ago

*कोरोना को लेकर छत्तीसगढ़ प्रशासन फिर हुआ अलर्ट, दूसरे देशों से छत्तीसगढ़ आने वालों की स्क्रीनिंग और जानकारी जुटाने प्रदेश के तीनों हवाई अड्डों पर हेल्प डेस्क स्थापित करने के निर्देश, स्वास्थ्य विभाग ने परिपत्र जारी कर सभी कलेक्टरों को कोरोना जांच और टीकाकरण में तेजी लाने कहा*

Advertisement