Connect with us


Chhattisgarh

*ये हड़प्पा कालीन खंडहर नहीं,नागलोक का स्कूल भवन है,प्रदेश के दिग्गज राजनेताओं को जीवन का ककहरा सिखाने वाला यह स्कूल,उपेक्षा के अंधेरे में डूबा हुआ है। आखिर कब खुलेगी जिम्मेदार अधिकारियों की आंख,मासूम बच्चों के साथ शिक्षकों के जीवन से क्यो हो रहा है खिलवाड़?*

Published

on

1661697401973

जशपुरनगर। जी हां,आपने ठीक ही पढा है। तस्वीरों में दिखाई दे रहा खण्डर न तो सिंधु सभ्यता का ऐतेहासिक अवशेष है और ना ही हड़प्पा काल का भवन। खण्डर में तब्दील हुए इस भवन में शनिवार तक समाज मे शिक्षा की दीपक जला कर उजियारा फैलाने वाले शिक्षक बैठा करते थे। जरा कल्पना कीजिये,अगर आज रविवार का अवकाश नहीं होता तो यहां कितना भयावह दृश्य देखने को मिलता। जी हां,हम बात कर रहे है जिले के फरसा बहार ब्लाक के नागलोक तपकरा के हाई स्कूल भवन का। रविवार की सुबह लगभग 10 बजे एक तेज आवाज के साथ यह जर्जर स्कूल भवन धाराशायी हो गया। घटना उजागर होने के बाद लोगों के जुबान पर एक ही सवाल है,आखिर कहां जाता है खनिज न्यास निधि?मामला,जिले के फरसाबहार ब्लाक के तपकरा की है। इस क्षेत्र के डीडीसी विष्णु कुलदीप ने बताया कि रविवार की सुबह तपकरा हाई स्कूल के स्टाफ रूम की दीवार भराभरा कर गिर गई। दीवार गिरने की तेज आवाज से आसपास के रहवासियों का ध्यान इस ओर आकर्षित हुआ। उन्होनें बताया कि तपकरा का यह स्कूल सन 1962 से संचालित किया जा रहा है। भवन का निर्माण भी दशकों पहले कराया गया था। समय और मौसम की मार से यह सरकारी स्कूल भवन पूरी तरह से जर्जर हो चुका है। उन्होनें बताया कि भवन की स्थिति को लेकर उन्होनें और यहां के प्राचार्य ने भी कलेक्टर सहित शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट करा चुके हैं। लेकिन अधिकारी हाथ में हाथ धर के बैठे हुए हैं। प्रशासनिक अधिकारियों की लापरवाही पर नाराजगी जताते हुए उन्होनें कहा कि अगर आज अवकाश का दिन नहीं होता तो यहां बडी घटना हो सकती थी। इसकी जिम्मेदारी कौन लेता? उन्होनें स्कूल के लिए तत्काल अतिरिक्त कक्ष निर्माण कराने की मांग की है।

दिग्गज राजनेताओ नेताओ के शिक्षा का गवाह है यह स्कूल

सरकारी उपेक्षा का दंश झेल रहा यह स्कूल जिले के दिग्गज राज नेता नन्द कुमार साय,सांसद श्रीमती गोमती साय,भरत साय के स्कूली शिक्षा का गवाह रहा है। डीडीसी विष्णु कुलदीप बताते है कि इस ऐतेहासिक स्कूल ने कई नेताओ और अफसर,देश और प्रदेश को दिया है। लेकिन दुर्भाग्य से अब यह स्वयं ही उपेक्षा का शिकार हो कर रह गया है।
‘ ब्लाक के जर्जर स्कूल भवनों की मरम्मत के लिए प्रस्ताव तैयार कर भेजा गया है। स्वीकृति मिलने में मरम्मत का काम शुरू किया जाएगा।’
सीआर भगत,बीईओ,फरसाबहार।

Advertisement

Ad

ad

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

IMG 20240226 220750
Chhattisgarh24 mins ago

*Big Breking jashpur:-बजरंग दल के युवाओं के साथ डॉक्टर का दुर्व्यवहार,कहा भाग जाओ चो?? लोग नहीं तो??नाराज युवाओं ने की जमकर नारेबाजी,सड़क दुर्घटना में घायल युवक को देखने पहुँचे थे युवा,जमकर बवाल के बाद माफी मांगने पर अड़े युवा,डॉ.अजित कुमार बंदे मुर्दाबाद के लगे नारे,माफी मांगने को लेकर धरने पर बैठे युवा…देखिये वीडियो!*

InShot 20240226 210116836
Jashpur2 hours ago

*विज्ञान के चमत्कारों पर आधारित ड्रामा से दर्शक हुए चकित, एनईएस कॉलेज में राष्ट्रीय विज्ञान सप्ताह के पांचवे दिन हुए कई कार्यक्रम…*

Jashpur4 hours ago

**Breking jashpur:-गम्हरिया के पंचायत सचिव सस्पेंड,जिला पंचायत सीईओ की कार्यवाही,समीक्षा बैठक में बिना सूचना के हुये थे..अनुपस्थित,शासन के महत्पूर्ण कार्यों में लापरवाही करना पड़ा महंगा..!*

Chhattisgarh2 years ago

*बिग ब्रेकिंग :- युद्धवीर सिंह जूदेव “छोटू बाबा”,का निधन, छत्तीसगढ़ ने फिर खोया एक बाहुबली, दबंग, बेबाक बोलने वाला नेतृत्व, बेंगलुरु में चल रहा था इलाज, समर्थकों को बड़ा सदमा, कम उम्र में कई बड़ी जिम्मेदारियां के निर्वहन के बाद दुखद अंत से राजनीतिक गलियारे में पसरा मातम, जिला पंचायत सदस्य से विधायक, संसदीय सचिव और बहुजन हिन्दू परिषद के अध्यक्ष के बाद दुनिया को कह दिया अलविदा..*

Chhattisgarh2 years ago

*जशपुर जिले के एक छोटे से गांव में रहने वाले शिक्षक के बेटे ने भरी ऊंची उड़ान, CGPSC सिविल सेवा परीक्षा में 24 वां रैंक प्राप्त कर किया जिले को गौरवन्वित, डीएसपी पद पर हुए दोकड़ा के दीपक भगत, गुरुजनों एंव सहपाठियों को दिया सफलता का श्रेय……*

Chhattisgarh2 years ago

*watch video ब्रेकिंग:- युद्धवीर सिंह जूदेव का पार्थिव शरीर एयर एम्बुलेंस विशेष विमान से जशपुर के आगडीह पहुंचा, पार्थिव शरीर आते ही युवा रो पड़े और लगाए जयकारे, आगडीह से विजय विहार के लिए रवाना, दिग्गज भाजपा नेताओं के साथ युवाओं ने इस जज्बे के साथ दी सलामी और बाइक में जयकारे लगाते हुए उसी अंदाज में की अगुआई जब संसदीय सचिव बनकर आये थे जशपुर…….*

Advertisement